रीठा के फायदे हैं अनेक – ख़ासकर आपके बालों के लिए

अपने बाल शैम्पू या साबुन की बजाय रीठा से साफ़ करें। रीठा पुरे तरह से एक प्राकृतिक पदार्थ है और आपके बालों की सालों-साल सुरक्षा करेगा, बगैर किसी भी तरह कोई नुक्सान पहुंचाएं।

दसबस स्टाफ सितम्बर 30, 2017 at 3:15

अगर किसी लड़की से पूछा जाए कि उसे सबसे ज़्यादा समय अपने शरीर के किस अंग को सवारने मे लगता है, तो ज़ाहिर सी बात है सबका जवाब होगा उनके बाल। बालों के रखरखाव मे काफ़ी लगन और समय समर्पित करना पड़ता है।

ऐसा अक्सर पाया जाता है कि जो लोग अपने बालों की देखभाल नियमित तौर पर नहीं करते, उन्हे समय के साथ-साथ बालों से संबंधित अनेक समस्याओं को झेलना पड़ता है। ऐसे में रीठा एक घरेलू उपचार की तरह आपकी मदद करने के लिए हमेशा तत्पर रहता है, बस उसका सही तरह से उपयोग करने आना चाहिए। आइये रीठा के बारे मे कुछ बातें जान लें:

रीठा का पेड़

रीठा, जिसे अँग्रेज़ी में सोप नट्स भी कहा जाता हैं, उपचार के मामले में अत्याधिक तौर से फ़ायदेमंद और असरदार साबित हो चुका है। लगभग हर किसी को बालों के झड़ने पर रीठा की ही याद आने लगती है। जबकि ऐसा भी पाया गया है कि एक अच्छी ख़ासी संख्या मे शैम्पू मे भी रीठा एक घटक के तौर पर इस्तेमाल होता है। बालों के झड़ने को रोकने के लिए इसका उपयोग एक परंपरागत उपाय है। न सिर्फ़ ये बालों का झड़ना रोकने मे हमारी मदद करता है, बल्कि इससे बालों मे जूँ भी नहीं आती।

अगर आप अपने केश के स्वास्थ के बारे मे सोचते हैं, तो रीठा से बेहतर विकल्प आपको नही मिल सकता। रीठा से अपने बालों को धोने के बाद आप उन्हे पहले से बेहतर, रेशमी और चिकना पाते हैं जिससे की उन्हे एक हैरतअंगेज़ सुन्दर रूप मिलता है। यह बालों के विकास मे भी बहुत लाभदाई साबित होता है और उनका सूखापन दूर करने मे मदद भी करता है। इसके बॅक्टीरियल-विरोधी और फंगल-विरोधी गुणों से यह बालों के लिए सर्वश्रेष्ठ उपादान माना जाता है।

रीठा के बारे मे अगर आप सबसे बेहतरीन चीज़ पूछें, तो वो ये है कि वह शत-प्रतिशत प्राकृतिक है जिससे की उसका बालों को नुकसान पहुँचाने का आपका डर स्वयं ही मिट जाता है और क्यूंकी वह पूरी तरह से प्राकृतिक है, आप उसे रोज़ाना अपने बालों को धोने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं। इससे आपके बालों के अंतिम भाग का विभाजन (स्प्लिट एंड्स) भी रुकता है।

अगर कुछ पल के लिए बालों के फायदों से हट भी जायें, तो रीठा के और भी अन्य फायदे हैं। चलिए उन पर भी एक नज़र डाल लेते हैं:

1)            रीठा को आप साबुन के स्थानापन्न (सब्स्टिट्यूट) की तरह भी उपयोग कर सकते हैं। यह आपकी त्वचा को नर्म और मुलायम बनाने मे काफ़ी लाभदायक होता है।

2)            इसे अपने चेहरे पर लगाने से आपका गोरापन भी बढ़ता है। और तो और, यह दाग, धब्बे और फुंसी का भी जड़ से नाश करता है।

3)            अगर आपकी त्वचा काफ़ी संवेदनशील हैं, तो भी आप रीठा का इस्तेमाल कर सकते हैं क्यूंकी यह पूरी तरह से एलर्जी-रहित है।

इन सारे फायदों को जानकर आपके मन में ये ख़याल तो ज़रूर आएगा कि आप भी इसका इस्तेमाल करना शुरू कर दें। सोचिए मत। आज ही अपने शैम्पू और साबुन को अलविदा कहें और रीठा का उपयोग करना शुरू कर दें।

शिकाकाई क्या है? इसके क्या फायदे हैं?

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *